As informed you earlier, this month we are going to release the Hindi English Verb Dictionary prepared by the HPS. The function to release this dictionary is going to be held on 19th August 2017 at the IMC Hall Churchgate at 6pm. You must have received the invitation for the same. This function is the most important event to mark our Platinum Jubilee year but that is not all we have planned various other small and big events for this year. HPS has also recently declared All India  Hindi Essay Competition for the students which has been named after late Perinben Captain to underline her invaluable contribution  towards HPS.

All India Hindi Essay Competition

HPS has recently declared All India Perinben Hindi Essay Competition for the students of colleges, universities, higher management and technical institutes . Last time such competition was held in 2015-16. As this is our Platinum Jubilee Year , this competition acquires more importance. The number of prizes has been increased to 25 which will make it more attractive and encouraging. The first prize is of Rs.50,000/- as earlier competitions.

We are publicizing this competition through news on social media, print media, posters at colleges and direct mailers. We got a pleasant surprise when  North Maharashtra University displayed the information of this competition on its Home page.

 

Hindi – Urdu Classes

The Hindi – Urdu learning classes conducted by the HPS every year started from July 2017. Like every year good response is received from the students.  With a view to make our syllabus more attractive and useful , we have included Creative Writing also as a subject in the present course. This is very much appreciated by the students.

Visit to Goa by HPS Team

Mr. Feroze Patch , Trustee & Hon. Secretary along with Mr. Sanjiv Nigam and Mr. Rakesh Kumar Tripathi  visited Goa on 6th July 2017 to meet Mr. S. Naik, ADG and IG Prisons, Goa . This visit was in connection with the proposal to open library in the Central Prison of Goa. The proposal of the HPS was welcomed whole heartedly by Mr.Naik. He even thanked the HPS for such a novel gesture.

Visit to Thane and Taloja Central  Jails

A team of HPS led by Mr. Feroze Patch , Trustee & Hon. Secretary visited Taloja and Thane Central Jails on  respectively . The purpose of the visit was to evaluate the facilities and apprise the officials there before establishing the library. The visits were successful and the work to supply books there is going on .

Opening of Libraries in Jails

Correspondence  was  initiated to open libraries in Central Jails with the Jail authorities of 7 states. we shall proceed further in the matter as we start receiving responses from the concerned authorities.

Release of Hindi English Verb Dictionary

On 19th August 2017 a grand function was organised at Indian Merchants Chamber Hall, Churchgate  to release the Hindi English Dictionary published by the HPS. The dictionary was released by the Hon. Governor of Goa, Mrs. Mridula Sinha in the presence of Mr. Satish Shah, Trustee & President, HPS, Mr. Francis Matthew, Trustee, HPS, Mr. Feroze Patch, Trustee & Hon. Secretary, HPS and other dignitaries . Three prominent scholars namely Dr Indra Nath Chaudhry, Dr Surya Prasad Dixit and Dr Suresh Rituparna presented their views on the dictionary. The author of the dictionary Dr Sushila Gupta spoke about her experiences while doing this project.

A big gathering of scholars and other prominent persons attended the function which was  the major function to celebrate the 75 th year of the HPS.

Elocution Competitions in Latur and Dhule

HPS organised elocution competitions for the students of the colleges in Dhule and Latur on 4th August and 23rd August 17 respectively. At both the places, it was informed that HPS is the first organisation which has organised Hindi Elocution competitions in those areas. Dhule competition covered the nearby areas of Nandurbaar, Shirgaon and Chalisgaon. At both the places students participated enthusiastically . Local media gave good coverage to the events.

We are also taking our activities to other centres and  this year we are having elocution competitions in  various districts of Maharashtra, Belgaum in Karnatka and Ahmedabad in Gujarat.

Elocution Competition in Mumbai

At local level, Elocution Competition was organised in different colleges of Mumai in respectively.

हमारे लिए यह अत्यंत संतोष की बात है कि हमारा प्रतिष्ठित प्रोजेक्ट “हिन्दी-अंग्रेजी क्रिया कोश’’ पूरा हो गया है। बहुत जल्द ही हम इसका लोकार्पण करने वाले हैं। जैसा कि आप जानते होंगे कि यह विश्व का दूसरा हिन्दी-अंग्रेजी क्रिया कोश है और भारत में बनने वाला तो यह पहला ही इस प्रकार का कोश है। देखा जाए तो सभा ने वह कार्य कर दिखाया है जिसके बारे में दूसरे लोगों के लिए सोचना भी मुमकिन नहीं है। अगले महीने इस कोश के लोकार्पण की योजना है। उस ऐतिहासिक अवसर पर उपस्थित रहने के लिए मैं आपको निमंत्रित करता हूँ। हमें केंद्रीय कारागारों में पुस्तकालय की अपनी योजना के लिए बहुत अच्छा समर्थन मिल रहा है। महाराष्ट्र की जेलों के बाद अब गुजरात के चार केंद्रीय कारागारों में शीघ्र ही पुस्तकालय शुरू हो जायेंगे। मुझे आपको यह बताते हुए भी अत्यंत खुशी है कि हमें गोवा के केंद्रीय कारागार में भी पुस्तकालय खोलने की अनुमती भी अभी-अभी प्राप्त हुई है।

अतीत के गलियारे से : सभा के 75 वें वर्ष का आयोजन

सभा की स्थापना के 75 वें वर्ष को मनाने के लिए 6 मई 2017 को एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें उन खास लोगों को आमंत्रित किया गया था जिनका सहयोग काफी लम्बे समय से सभा को मिलता रहा है। उन लोगों को अपने विचार रखने तथा सभा को आगे बढ़ाने के सुझाव देने के लिए आमंत्रित किया गया था। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री सतीश शाह, अध्यक्ष हिन्दुस्तानी प्रचार सभा ने की। कार्यक्रम में डॉ. उषाबेन ठक्कर, निदेशक, मणिभवन मुख्य अतिथि थी जोकि खुद भी सभा से लंबे समय से जुड़ी रही हैं। इस कार्यक्रम में कई विद्वान जैसे कि श्री नंदकिशोर नौटियाल, विश्वनाथ सचदेव, डॉ. सूर्यबाला आदि शामिल हुए। उन्होंने सभा की गतिविधियों की सराहना की, खासतौर से पिछले चार-पाँच सालों से चलने वाली गतिविधियों की।
सभा के ट्रस्टी तथा मानद सचिव श्री फ़िरोज़ पैच ने मेहमानों का स्वागत किया तथा अपने अनुभवों को साझा किया। डॉ. सुशीला गुप्ता ने सभा के इतिहास का उल्लेख किया। कार्यक्रम की संकल्पना तथा संचालन संजीव निगम का था। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सभा के सभी सदस्यों विशेषकर संजय मांजरेकर, माहरुख चिनॉय, अपर्णा नवघणे, महादेव चालके, संतोष बाईंग, निरंजन तिरलोटकर, संदीप जाधव आदि ने बड़ा योगदान दिया।

नई पत्रिका ‘हिन्दुस्तानी ज़बान युवा’ का विमोचन

6 मई 2017 को ही हमारी नई त्रैमासिक पत्रिका ‘युवा’ का विमोचन डॉ. उषाबेन ठक्कर के हाथों तथा श्री सतीश शाह और श्री फ़िरोज़ पैच की उपस्थिति में किया गया। यह पत्रिका विशेष रूप से कॉलेज, विश्वविद्यालयों, उच्च शिक्षा संस्थानों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों तथा शोधार्थियों के लिए निकाली गई है। इसका उद्देश्य है छात्रों में हिन्दी में रचनात्मक लेखन की रुचि को बढ़ावा देना है। इसके पहले अंक में ही देश के कई भागों से विद्यार्थियों की रचनाएँ प्रकाशित हुई हैं। इसके संपादक श्री संजीव निगम हैं तथा उपसंपादक श्री राकेश कुमार त्रिपाठी हैं। अपनी श्रेणी में यह देश की एकमात्र पत्रिका है।

उर्दू लेखक मण्टो की कहानियों का प्रस्तुतिकरण

उर्दू के प्रसिद्ध कहानीकार सआदत हसन मण्टो की 5 कहानियों का प्रस्तुतिकरण ‘कथाकथन’ समूह द्वारा 6 मई 2017 को हमारे सभागृह में किया गया। यह भी हमारे 75 वें वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम था। यह एक प्रयोगात्मक प्रस्तुति थी। इस कार्यक्रम में हमारा सभागृह दर्शकों से खचाखच भरा था।

एक मुट्ठी अमृता प्रीतम

सभा द्वारा राष्ट्रभाषा महासंघ के साथ मिलकर 20 मई 2017 को विख्यात लेखिका अमृता प्रीतम के व्यक्तित्व एवं कृतित्व की अभिनय, गीत व वाचन द्वारा प्रस्तुति का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में दर्शकों के साथ-साथ कई गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम की प्रस्तुति पुणे के एक समूह द्वारा की गई।

दीक्षान्त समारोह

25 मई 2017 को परीक्षा विभाग द्वारा उन स्कूलों के विद्यार्थियों के लिए दीक्षान्त समारोह आयोजित किया गया जहाँ हमारे पाठ्यक्रम चल रहे हैं।

औरंगाबाद केंद्रीय कारागार में पुस्तकालय का उद्घाटन

4 जून 2017 को औरंगाबाद केंद्रीय कारागार में सभा द्वारा स्थापित पुस्तकालय का उद्घाटन डॉ. भूषण कुमार उपाध्याय, एडीजी एवं महानिरीक्षक (कारागार) महाराष्ट्र की उपस्थिति में संपन्न हुआ। इस अवसर पर सभा की ओर से संजीव निगम तथा उनके साथ राकेश कुमार त्रिपाठी मौजूद थे। इस अवसर पर बोलते हुए डॉ. उपाध्याय ने इस प्रोजेक्ट के लिए सभा की बहुत प्रशंसा की। उन्होंने इसे एक सुधार आंदोलन बताया।

इस अवसर पर वहाँ एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमें वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तथा कैदी उपस्थित रहे थे। सभा के संजीव निगम ने इस अवसर पर सभा तथा इसकी गतिविधियों का संक्षिप्त परिचय दिया।

येरवडा केंद्रीय कारागार का दौरा

श्री फ़िरोज़ पैच, ट्रस्टी व मानद सचिव ने संजीव निगम तथा राकेश कुमार त्रिपाठी के साथ 16 जून 2017 को येरवडा केंद्रीय कारागार का दौरा किया। इस दौरे का उद्देश्य था वहाँ स्थापितपुस्तकालय की समीक्षा करना तथा वहाँ की किताबों की जानकारी तथा पुस्तकालय संबंधी अन्य डाटा को सुरक्षित रखने के लिए एक कम्प्यूटर देना।

सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ आर्ट्स एण्ड कॉमर्स के विद्यार्थियों का दौरा

17 जून 2017 को सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ आर्ट्स एण्ड कॉमर्स के 23 विद्यार्थी तथा उनके दो शिक्षकों ने सभा की लाइब्रेरी का दौरा किया। यहाँ पर उनका स्वागत डॉ. रीता कुमार तथा पुस्तकालयके स्टाफ द्वारा किया गया। उन्होंने पुस्तकालय का दौरा किया तथा सभा के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया। राकेश कुमार त्रिपाठी ने सभा की गतिविधियों से परिचय करवाया।

आयकर विभाग के अनुवादकों का दौरा

देश के अलग-अलग भागों से प्रशिक्षण के लिए अपने आयकर विभाग में आए हुए अनुवादकों ने 21 जून 2017 को सभा का दौरा किया। डॉ. रीता कुमार ने उनका स्वागत किया। संजीव निगम नेउन्हें सभा के विषय में बताया तथा अनुवाद की प्रक्रिया की कुछ खास बातें भी बताई। इस अवसर पर सभा के राकेश कुमार त्रिपाठी और रईस अंसारी उपस्थित रहे थे।

मराठी के लोकरंग : हिन्दुस्तानी के संग

23 जून 2017 को ‘मराठी के लोकरंग : हिन्दुस्तानी के संग’ शीर्षक से एक अलग तरह के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें मराठी के लावणी, बतावणी, गोंधल, पौवाड़ा की प्रस्तुतिहिन्दुस्तानी में की गई थी। यह प्रस्तुति मुंबई विश्वविद्यालय के लोकसंस्कृति विभाग से जुड़े कलाकारों द्वारा की गई थी। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में दर्शक उपस्थित रहे थे।

विशेष उल्लेख

श्री फ़िरोज़ पैच को “विश्व शांति अभियान न्यास’’ की ओर से शांतिदूत अवार्ड का पदक तथा प्रशस्ति पत्र प्राप्त हुआ। यह सम्मान उन्हें मानवता के कार्यों तथा भाषा की प्रगति के लिए कार्य करनेपर प्राप्त हुआ।